12 अगस्त, 2020|3:54|IST

अगली स्टोरी

टिकटॉक स्टार DU की छात्रा ने दी जान, ऐप के बैन होने से थी बहुत परेशान

उत्तर प्रदेश के मेरठ में दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा एवं सब इंस्पेक्टर की बेटी ने फांसी लगाकर जान दे दी। वह टिकटॉक स्टार थी। टिकटॉक बैन होने के बाद से बेहद परेशान थी। खुदकुशी की वजह स्पस्ट नहीं हो पाई है। पुलिस ने मोबाइल कब्जे में लेकर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
 यह मामला मेर के पल्लवपुरम थाना क्षेत्र की ग्रीन पार्क कॉलोनी का है।  

हापुड़ जिले के गढ़मुक्तेश्वर थाने में तैनात सब इंस्पेक्टर संजय चौहान का परिवार ग्रीन पार्क कॉलोनी में छह महीने से रह रहा है। यहां सब इंस्पेक्टर की पत्नी व बेटी रहती हैं। 22 साल की बेटी संध्या चौहान दिल्ली यूनिवर्सिटी से अध्ययनरत है। लॉकडाउन में वह घर आई हुई थी। गुरुवार शाम करीब पांच बजे उसने कमरे में फांसी लगाकर जान दे दी। घटना के वक्त संध्या की मां दूसरे कमरे में मौजूद थीं। 

मृतका के फुफेरे भाई पुस्पांक ने पुलिस को फोन से इसकी सूचना दी। मोदीपुरम चौकी प्रभारी विकास चौहान मौके पर पहुंचे। दरवाजा तोड़ कर छात्रा को फंदे से नीचे उतारा। उसे एसडीएस ग्लोबल अस्पताल में भर्ती कराया। यहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। 

चौकी प्रभारी विकास चौहान का कहना है कि ऐसा प्रतीत हो रहा है कि युवती ने परिवारिक कलह के चलते जान दी है। पल्लवपुरम थाना प्रभारी दिग्विजयनाथ शाही ने बताया कि छात्रा के मोबाइल को कब्जे में ले लिया है। पता चला है कि वह टिकटॉक पर काफी सक्रिय रहती है। हालांकि अभी यह कहना जल्दबाजी होगी कि टिकटॉक बैन के चलते उसने खुदकुशी की है। कमरे से कोई सुसाइड नोट भी बरामद नहीं हुआ है। परिजनों से जानकारी हुई है कि वह पिछले दो महीने से ज्यादा डिप्रेशन में थी, लेकिन इसकी वजह पता नहीं चल पाई। पूरे केस में गहनता से जांच चल रही है।

लाइव हिन्दुस्तान टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं।
आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।
  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें।
  • Web Title:Tiktok Star DU student dies upset over app ban