12 अगस्त, 2020|8:24|IST

अगली स्टोरी

साली से शादी की चाह में पति ने की पत्नी और बेटे की हत्या

साली से शादी की चाह में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी और बेटे को मौत के घाट उतार दिया। करीब एक महीने पहले राजस्थान की राजधानी जयपुर के करधनी इलाके में महिला और उसके बेटे की संदिग्ध मौत के मामले में पुलिस ने महिला के पति, देवर और मृतका की छोटी बहन को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने हत्या का षड्यंत्र फिल्मी अंदाज में रचा और खुद को बचाने के लिए छोटे भाई को भी हथियार बना लिया। इसके साथ ही करधनी थाना पुलिस ने मां बेटे की विषाक्त के सेवन से मौत के मामले में गुत्थी सुलझा ली है।

डीसीपी वेस्ट प्रदीप मोहन शर्मा ने बताया कि 25 जून को सूर्य नगर नाडी का फाटक निवासी अनिता शर्म (38) और बेटे मयंक (14) की विषाक्त पीने से मौत हुई थी। मृतका के पति अनिल शर्मा ने पुलिस को सूचना नहीं दी थी और खुद ही अस्पताल ले गया था। तफ्तीश के बाद हत्या के आरोपी अनिल शर्मा, उसका भाई सुनील शर्मा और साली पूजा को गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने पहले दोनों को नींद की गोलियां दी थी और फिर सेल्फास पिलाया था। जिस कारण उनकी मौत हो गई थी। मामले में किसी की ओर से कोई संदेह नहीं जताया गया था, लेकिन पुलिस ने खुद ही मामला दर्ज कर खुलासा किया।

शादी के बाद ही साली से हो गया था प्यार
पुलिस ने बताया अनिल शर्मा कलेक्ट्री में एलडीसी के पद पर कार्यरत है। शादी के बाद ही उसके अपनी साली पूजा से संबंध बन गए। पूजा की भी कुछ साल पहले शादी हो गई थी, लेकिन पति के साथ नहीं रहती थी। अनिल, पूजा के साथ शादी करने के लिए पत्नी व बेटे को रास्ते से हटाना चाहता था। इसके लिए उसने अपने भाई सुनील को मोहरा बनाया। आरोपी ने करीब एक महीने पहले गांव जाकर के भाई को षड्यंत्र में शामिल किया और कहा कि अगर ऐसा कर देगा तो उसकी भी शादी करवा देगा साथ ही एक मकान व रुपए देगा। प्रलोभन में आकर के उसने हां कर दी तो तभी अनिल उसे नींद की हाइडोज की गोलियां देकर आ गया।

नींद की 13 गोलियां खिलाई

पुलिस ने बताया कि साजिश के तहत सुनील अपने भाई के घर आया। इस दौरान अनिल व पूजा अजमेर रोड स्थित एक होटल में जाकर ठहर गए। सुनील ने भाभी और भतीजे को खाने के बाद नींद की 13 गोलियां दे दी। उधर, अनिल व पूजा होटल के कमरे में अपने मोबाइल रखकर के घर के पास आ गए। रात को घर में घुसे और देखा कि उनकी सांसें चल रही है तो शिकंजी में सेल्फास की गोलियां मिलाकर के पिला दी और कुछ खिला भी दी। वहां से निकलकर के फिर होटल पहुंच गए। सुबह घर आने पर घर में उल्टियों के बर्तन साफ करके आत्महत्या की कहानी गढ़कर रोना शुरू कर दिया।

भाई का फंसाना चाहता था आरोपी
अनिल ने बचने के लिए अपने बड़े अधिकारी से पुलिस अधिकारी को फोन करके परेशान नहीं करने की बात कही। जबकि पुलिस ने उससे बात ही नहीं की थी। करीब दस दिन बाद पुलिस अधिकारियों को एक पत्र भेजा, जिसमें छोटे भाई पर हत्या का संदेह जताया। पुलिस का संदेह मजबूत हुआ और उसके भाई से पूछताछ की तो पूरे मामले का खुलासा हो गया। शातिर अनिल ने आत्महत्या दर्शाने के लिए पूरी तैयारी की थी, यदि हत्या का भी अंदेशा होता तो वह भाई को फंसा देता। क्योंकि सुनील भी उसके द्वारा दी गई गोलियों से ही मौत मानकर चल रहा था। जबकि गोलियों से मौत होना मुश्किल था और अनिल ने हत्या के लिए सेल्फॉस रखा था।

लाइव हिन्दुस्तान टेलीग्राम पर भी उपलब्ध है। यहां क्लिक करके आप सब्सक्राइब कर सकते हैं।
आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।
  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें।
  • Web Title:husband kills wife and son in desire to marry sister-in-law in jaipur rajasthan